Browsing Archive: May, 2014

Feedback on 'Colaba Conspiracy' - Part 2

Posted by Surender Mohan Pathak on Saturday, May 31, 2014, In : Feedback 

Part 1 से आगे...

पुनीत दुबे को कोलाबा कान्स्पिरेसीबेमिसाल, पूरे सौ नंबरों के काबिल लगा, बावजूद उनकी नीचे लिखी दो नाइत्तफाकियों के:

1. बकौल उनके पंगा शब्द जो एडुआर्डो और जीतसिंह के डायलॉग्स में आ...


Continue reading ...
 

Feedback on 'Colaba Conspiracy' - Part 1

Posted by Surender Mohan Pathak on Saturday, May 31, 2014, In : Feedback 

कोलाबा कांस्पीरेसी

जीत सिंह के इस सातवें कारनामे को जो तारीफ और मकबूलियत हासिल हुई है, वो बेमिसाल है और उससे आप का लेखक गदगद है कि उसकी मेहनत रंग लायी । उपन्यास ने पाठकों को किस कदर प्रभावित ...


Continue reading ...
 
 

About Me


Surender Mohan Pathak e-mail: contact@smpathak.com

Make a free website with Yola